WHO ने कोरोना महामारी को लेकर दी बड़ी खबर

101

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस की मार झेल रही दुनिया के नेताओं से अगली महामारी से निपटने के लिए तैयारी करने की अपील की है। संगठन ने कहा, “हमें अभी से अगली महामारी के लिए तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

हमने देखा है कि मजबूत स्वास्थ्य तंत्र वाले देश कोरोना वायरस महामारी को काबू करने और इससे निपटने में सफल रहे हैं।” बता दें कि संगठन पहले भी कह चुका है कि कोरोना वायरस आखिरी महामारी नहीं है।

स्वास्थ्य ही स्थिर दुनिया का आधार- WHO
संगठन ने जोर देते हुए कहा कि स्थिर दुनिया की बुनियाद तभी संभव है अगर हर देश अपनी स्वास्थ्य सुविधाओं पर पर्याप्त ध्यान देगा। कोरोना वायरस महामारी यह याद दिलाती है कि स्वास्थ्य ही सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्थिरता का आधार है।बयान

विज्ञान, समाधान और एकजुटता से कोरोना को हराया जा सकता है- WHO
कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने वाले देशों की सराहना करते हुए संगठन ने कहा कि यद्यपि यह एक वैश्विक संकट है, लेकिन कुछ देशों और शहरों ने सूझबूझ प्रतिक्रिया के साथ महामारी के प्रसार पर सफलतापूर्वक काबू पा लिया है।

महामारी के खिलाफ वैश्विक प्रयासों का नेतृत्व कर रहे विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को ‘विज्ञान, समाधान और एकजुटता’ के साथ ही जीता जा सकता है।

आखिरी महामारी नहीं है कोरोना वायरस- टेड्रोस
इससे पहले संगठन के प्रमुख डॉक्टर टेड्रोस ने सितंंबर में भी अगली महामारी को लेकर दुनिया को चेताया था।

तब उन्होंने कहा था कि दुनिया को अगली महामारी के लिए बेहतर तैयारी करनी चाहिए और देशों को अपने जन स्वास्थ्य तंत्र में निवेश पर ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने कोरोना वायरस के बारे में कहा कि यह आखिरी महामारी नहीं है। जब अगली महामारी आएगी तब दुनिया को इस बार की तुलना में अधिक तैयार रहना होगा।आलोचना

टेड्रोस के बयान की हुई थी आलोचना
डॉक्टर टेड्रोस ने स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश पर जोर देते हुए कहा था कि देशों ने पिछले सालों में आधारभूत स्वास्थ्य सुविधाओं को नजरअंदाज किया है। अब दुनिया को सुखी और सुरक्षित भविष्य के लिए जन स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश करना चाहिए। जन स्वास्थ्य सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक स्थिरता का आधार है।

हालांकि टेड्रोस के इस बयान के लिए उनकी आलोचना भी हुई थी। लोगों का कहना था कि दुनिया को इस समय ऐसी टिप्पणियों की जरूरत नहीं है।महामारी

दुनियाभर में बढ़ता जा रहा है कोरोना का प्रकोप
संगठन की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, दुनियाभर में अब तक लगभग 4.87 करोड़ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 12.34 लाख की मौत हुई है।

सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में 96.10 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और लगभग 2.35 लाख लोगों की मौत हुई है। यहां बीते दिन एक लाख से अधिक नए मामले सामने आए।